Shivaji in Agra and Mughals, Rajputs in interplay

जय माता जी की,

शिवाजी के आगरा के दिनों की घटनाओं पर राजस्थानी परिप्रेक्ष्य में ऐतिहासिक तथ्यों सहित एक आंकलन। इसमें विशेष ध्यान उनके आगरा से निकलने पर दिया है। राजनैतिक व सामाजिक धरातल की सम सामयिक परिस्थितियों में अलग अलग व्यक्तियों और घटनाओं के क्या प्रभाव व प्रतिक्रियाएं थी। ये देखने का भी प्रयास किया गया।

Blogpost: -

Twitter: -

साभार,
वीरेंद्र सिंह राठौड़ (मेड़तिया)

2 Likes

Welcome Hkm :pray: Contents from your posts is being referenced by other users on this platform as well. Your posts are really detailed and well-referenced. Share your knowledge and views here to enlighten us.

Enjoy your stay :slightly_smiling_face:

1 Like

Yes I noticed that :grin::+1:

1 Like